Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

सभासद ने वन प्रभाग से की मालरोड पर खतरा बने पेड़ो से बचाव करने की मांग

जो पेड़ आने वाले समय में खतरा बन सकते हैं,उनसे बचाव के प्रबंध किए जाये: गीता

Story Highlights
  • पूर्व में कई बार पेड़ों के गिरने से बड़ी दुर्घटना होते होते बची

मसूरी। मालरोड के किनारों पर लगे पेंड़ो से होने वाले खतरे को देखते हुए वार्ड नं. आठ की सभासद गीता कुमांई ने उप वन संरक्षक कार्यालय जाकर पेड़ों का निरीक्षण कर उचित कार्रवाई करने की मांग की है। कुमाई ने बताया कि इन पेड़ों से होने वाले नुकसान के प्रति वन विभाग सतर्क रहे इसके लिए डीएफओ को ज्ञापन सौंपा गया है व मांग की कि वन विभाग की टीम पेड़ों का निरीक्षण करे व जो पेड़ आने वाले समय में खतरा बन सकते हुैं उन्हें हटा दिया जाय या उनसे बचाव के प्रबंध किए जाये।

मालरोड के किनारे बडे़ बडे़ पेड़ वर्षों पुराने है जिनमें कई सूख गये है। जब भी कभी मौसम खराब होता है या तेज हवायें या बर्फबारी होती है तो इन पेड़ों के गिरने की संभावना बनी रहती है। पूर्व में भी कई बार पेड़ों के गिरने से बड़ी दुर्घटना होते होते बची है। जिसके कारण हमेशा जानमाल के नुकसान का खतरा बना रहता है। गत वर्ष भी बरसात में गढवाल टैरेस के निकट दिन दहाड़े एक पेड़ गिर गया था, जिससे मालरोड पर जान माल ही हानि होने से बाल बाल बची। साथ ही पेड़ गिरने से जहां पूरी रोड बाधित हो गई थी, वहीं बिजली के खंबे तार सहित टूटकर सडक पर आ गये थे। एक ओर मालरोड पर चलते लोग जहा पेड की चपेट में आने से बाल बाल बचे, वहीं बिजली के तार टूटने पर करंट से भी बाल बाल बचे थे। वहीं इससे पूर्व लाइब्रेरी क्षेत्र मालरोड पर रिटज सिनेमा के निकट एक पेड का टहना विगत दो वर्ष पूर्व टूट गया था जिसके नीचे कई पटरी वाले बैठते हैं वह भी बाल बाल बचे थे।

क्षेत्रीय सभासद गीता कुमाई ने बताया कि इन पेड़ों से होने वाले नुकसान के प्रति वन विभाग सतर्क रहे इसके लिए डीएफओ को ज्ञापन सौंपा गया है व मांग की कि वन विभाग की टीम पेड़ों का निरीक्षण करे व जो पेड़ आने वाले समय में खतरा बन सकते हुैं उनसे सुरक्षा के प्रबंध किए जाये। इस पर डीएफओ ने आश्वासन दिया कि शीघ्र ही वन विभाग की एक टीम निरीक्षण के लिए भेजी जायेगी व ऐसे पेड़ों को चिन्हित कर उनसे सुरक्षा के उपाय करेगी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button