Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

एमपीजी कालेज को लेकर पालिकाध्यक्ष हुए गंभीर, प्रधानाचार्य से माँगा स्पष्टीकरण

बिना अवकाश स्वीकृति कराये अनुपस्थित रहने व अन्य अनियमितताओं को लेकर माँगा स्पष्टीकरण

मसूरी। नगर पालिका का एकमात्र एमपीजी कालेज को लेकर प्रबंध समिति के अध्यक्ष/ पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता गंभीर हो गए हैं। इसके तहत पालिकाध्यक्ष ने कालेज के प्रधानाचार्य से बिना अवकाश स्वीकृति कराये अनुपस्थित रहने सहित अन्य अनियमितताओं को लेकर पांच बिन्दुओं पर स्पष्टीकरण माँगा है। साथ ही संतोषजनक उत्तर नही मिलने पर कार्रवाई की चेतावनी भी दी है।

पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने मसूरी नगर पालिका द्वारा संचालित होने वाले म्युनिसिपल पोस्ट ग्रेजुएट कालेज के प्रधानाचार्य एसपी जोशी को पत्र के जरिये स्पष्टीकरण मांगा है, जिसमें कई गंभीर मामले भी सम्मिलित है। अध्यक्ष अनुज गुप्ता ने कहा कि प्रधानाचार्य लंबे समय से कालेज में देरी से आ रहे हैं तथा शीघ्र चले जाते हैं उनके बायो मैट्रिक से उपस्थिति का अवलोकन किया गया, जिसमें अनुपस्थिति पायी गई वहीं बिना अवकाश स्वीकृति के महाविद्यालय से अनुपस्थित रहते हैं। कहा कि प्रधानाचार्य के खिलाफ अन्य कई अनियमितताएं की शिकायतें  भी लगातार मिल रही हैं। गुप्ता ने कहा कि अगर प्रधानाचार्य ने शीघ्र संतोषजनक उत्तर नहीं दिया तो इन गंभीर विषयों पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि वे कालेज की सभी गतिविधियों का नजदीकी से अवलोकन कर रहे हैं और किसी प्रकार की लापरवाही पर सख्ती से कार्यवाही करेंगे।

पालिकाध्यक्ष द्वारा मांगे गए स्पष्टीकरण के बिंदु-

  1. पालिकाध्यक्ष ने स्पष्टीकरण माँगा है कि कालेज में नियमित रूप से विलंब से आने का कारण स्पष्ट करें।

  2. विश्वविद्यालय की इन दिनों परीक्षा चल रही है, जो प्रातः आठ बजे शुरू होती है और प्रधानाचार्य विलंब से आते हैं ऐसे में परीक्षा के पेपर कौन खोलता है, यह गंभीर मामला है जो लापरवाही को दर्शाता है इसका कारण स्पष्ट करें।

  3. दिसंबर माह में जो अवकाश लिए गये है, वे अध्यक्ष प्रबंध समिति से स्वीकृत नहीं कराये गये, इस स्थिति को स्पष्ट करें।

  4. अवकाश व मुख्यालय छोड़ने पर अधोहस्ताक्षरी से कोई अनुमति नहीं ली जाती, इसका कारण स्पष्ट करें तथा वर्तमान में निवास की दूरी व निवास का स्थान की जानकारी दें। साथ ही यहां पर प्रधानाचार्य का निवास होने के बावजूद देहरादून से आने का कारण स्पष्ट करें।

  5. चुनाव आचार संहिता के दौरान उनके द्वारा कर्मचारियों के प्रमोशन किए जाने की स्थिति स्पष्ट करें।

इस संबंध प्रधानाचार्य डॉ एसपी जोशी ने सफाई देते हुए कहा कि नगरपालिकाध्यक्ष से आवास की मांग की गई थी, जिस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। जो वर्तमान में आवास है, उसके एक हिस्से में एक प्राध्यापक रहते हैं। उन्होंने कहा कि जो भी मामला है उसे शीघ्र सुलझा लिया जायेगा क्यों कि अध्यक्ष प्रबंध समिति के अध्यक्ष भी हैं लेकिन संवाद न होने के कारण कोई उन्हें कोई गलत जानकारी देकर दोनों के बीच विवाद पैदा करना चाहता है। उन्होंने उम्मीद जताई कि महांविद्यालय नई उंचाइयों को हासिल करेगा।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button