Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

1st ODI: रोहित की शतकीय पारी पर फिर पानी,ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 34 रनों से हराया

भारत का टॉप ऑर्डर बुरी तरह से हुआ फेल

नई दिल्ली:  भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी में हुए पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया द्वारा दिए गए 288 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया को रोहित शर्मा की 133 और महेंद्र सिंह धोनी  की 51 रनों की जुझारू पारियों के बावजूद 34 रनों से हार का सामना करना पड़ा.

शनिवार को ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया. खराब शुरुआत के बाद मध्यक्रम के बल्लेबाजों के संयुक्त प्रयास के दम पर ऑस्ट्रेलिया  ने भारत के खिलाफ निर्धारित 50 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 288 रनों का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया. ऑस्ट्रेलिया को इस स्कोर तक पहुंचाने में पीटर हैंड्सकॉम्ब (73), शॉन मार्श (59) और उस्मान ख्वाजा (59) का अहम योगदान रहा.

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी मेजबान टीम को तीसरे ही ओवर में ही पहला झटका लगा. भुवनेश्वर कुमार ने आठ के कुल स्कोर पर आस्ट्रेलियाई कप्तान एरॉन फिंच (6) को बेहतरीन इनस्विंगर पर बोल्ड कर दिया. यह भुवनेश्वर का वनडे में 100वां विकेट था.

वहीं रनों का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरूआत बेहद खराब रही. भारत का टॉप ऑर्डर बुरी तरह से फेल हो गया और टीम इंडिया ने महज 4 रन पर अपने 3 विकेट खो दिए. भारत के लिए सबसे पहले शिखर धवन बिना खाता खोले बेहरनडॉर्फ की गेंद पर LBW आउट हो गए. उसके बाद रिचर्डसन के ओवर में भारत ने 2 विकेट खो दिए, पहले कप्तान विराट कोहली 3 रन पर कैच थमा बैठे और फिर अंबति रायडु बिना खाता खोले LBW आउट हो गए.

यहां से महेंद्र सिंह धोनी और उपकप्तान रोहित शर्मा ने मिलकर भारतीय पारी को संभाला और शतकीय साझेदारी की. दोनों के बीच 137 रनों की साझेदारी हुई जिसे बेहरनडॉर्फ ने LBW आउट कर इस पारी को तोड़ दिया.

इसके बाद कोई भी बल्लेबाज कुछ ज्यादा रन नहीं बना सका. दिनेश कार्तिक 12, रविंद्र जडेजा 8 और कुलदीप यादव 3 रन के स्कोर पर आउट हो गए. भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार ने जुझारू पारी खेलते हुए 25 रनों की नाबाद पारी खेली.

इससे पहले भारत के लिए भुवनेश्वर और कुलदीप ने दो-दो विकेट लिए. जडेजा को एक विकेट मिला.  टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी मेजबान टीम को तीसरे ही ओवर में ही पहला झटका लगा. भुवनेश्वर कुमार ने आठ के कुल स्कोर पर आस्ट्रेलियाई कप्तान एरॉन फिंच (6) को बेहतरीन इनस्विंगर पर बोल्ड कर दिया. यह भुवनेश्वर का वनडे में 100वां विकेट था.

दूसरे सलामी बल्लेबाज एलेक्स कैरी (24) ने ख्वाजा के साथ मिलकर टीम के स्कोर बोर्ड को आगे बढ़ाया. इन दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 33 रन जोड़े. भारतीय कप्तान विराट कोहली ने यहां गेंदबाजी में बदलाव किया और चाइनामैन कुलदीप यादव को लेकर आए. कुलदीप ने 41 के कुल स्कोर पर एलेक्स को स्लिप पर खड़े रोहित शर्मा के हाथों कैच करा भारत को दूसरी सफलता दिलाई.

ख्वाजा को यहां से मार्श का साथ मिला. दोनों ने धीरे-धीरे बिना किसी जोखिम उठाए पारी को आगे बढ़ाया. इस बीच ख्वाजा ने 26वें ओवर की दूसरी गेंद पर एक रन लेकर अपना अर्धशतक पूरा किया. यह उनका वनडे में पांचवां अर्धशतक है. कुछ देर बाद ख्वाजा 133 के कुल स्कोर पर रवींद्र जडेजा की गेंद पर पगबाधा करार दे दिए गए. उन्होंने मार्श के साथ तीसरे विकेट के लिए 92 रनों की साझेदारी की. ख्वाजा ने 81 गेंदों की पारी खेली जिसमें छह चौके शामिल रहे.

मार्श ने अपना खेल जारी रखा और हैंड्सकॉम्ब के साथ मिलकर टीम का स्कोर 186 तक पहुंचाया. इस बीच मार्श ने अपना अर्धशतक पूरा कर लिया था. मार्श कुलदीप की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में मोहम्मद शमी के हाथों लपके गए. उन्होंने अपनी पारी में 70 गेंदों का सामना करते हुए चार चौके मारे.

लगा था कि हैंड्सकॉम्ब अकेले पड़ जाएंगे लेकिन मार्कस स्टोइनिस ने अंत में उनका अच्छा साथ दिया. हैंड्सकॉम्ब थोड़ा तेज खेल रहे थे तो वहीं स्टोइनिस स्ट्राइक रोटेट करने का काम कर रहे थे. अंत में तेजी से रन बनाने के कारण की हैंड्सकॉम्ब 48वें ओवर की दूसरी गेंद पर 254 के कुल स्कोर पर भुवनेश्वर का दूसरा शिकार बने. उन्होंने अपनी पारी में 61 गेंदें खेली और छह चौके के अलावा दो छक्के लगाए. स्टोइनिस 43 गेंदों पर दो चौके और इतने ही छक्के की मदद से 47 रन बनाकर नाबाद लौटे. उनके साथ ग्लैन मैक्सवेल पांच गेंदों पर एक चौके की मदद से 11 रन बनाकर नाबाद रहे.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button