Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

वन दारोगा व आरक्षियों से सम्बंधित विवादित डिग्रियों की फाइल गायब, मचा हडकंप

इस सम्बन्ध में अनुभाग अधिकारी सतेंद्र बर्मन ने सभी अनुभाग अधिकारियों व निजी सचिवों को लिखा पत्र

Story Highlights
  • आरटीआइ कार्यकर्ता विनोद कुमार जैन ने विवादित डिग्रियों से सम्बंधित जानकारी
  • कार्मिकों की फर्जी डिग्रियां सामने आने पर शासन ने नवंबर, 2011 में तलब की थी फाइल

देहरादून। वन विभाग में तैनात जिन वन दारोगा व आरक्षियों की विवादित डिग्रियों की फाइल शासन में गायब हो गई है। इसकी जानकारी होने पर अधिकारियों में हड़कंप मच गया है। उधर वन विभाग के अनुभाग अधिकारीने सभी अनुभाग अधिकारियों व निजी सचिवों को पत्र लिखकर फाइल की जानकारी मांगी है।

बता दें, आरटीआइ में एक के बाद एक कार्मिकों की फर्जी डिग्रियां सामने आने पर शासन ने नवंबर, 2011 में प्रमुख वन संरक्षक मानव संसाधन एवं कार्मिक प्रबंधन से ऐसे वन दारोगाओं व वन आरक्षियों की फाइल तलब की थी। माना जा रहा था कि विभाग में बड़े पैमाने पर भर्ती घोटाला हुआ है। इसकी जांच की मंशा से ही पत्रावली शासन ने तलब की थी। इसके बाद वन मुख्यालय स्तर से यह पत्रावली शासन को भेजी गई थी। लेकिन बताया जा रहा है कि ये फाइलें गायब हो गई हैं।

दरअसल, आरटीआइ कार्यकर्ता विनोद कुमार जैन ने पांच जनवरी को शासन से विवादित डिग्रियों से संबंधित फाइल के बारे में जानकारी मांगी थी। इसके जवाब में वन विभाग के अनुसचिव ने कहा है कि पत्रावली गायब है और उसकी खोजबीन की जा रही है। पत्रावली प्राप्त होते ही उससे संबंधित सूचना उपलब्ध कराई जाएगी।

आरटीआइ कार्यकर्ता विनोद कुमार जैन की ओर से पूर्व में मांगी गई सूचना के क्रम में अब तक एक वन दारोगा समेत करीब 35 वन आरक्षियों की फर्जी डिग्रियां सामने आ चुकी हैं। इनमें से कई कार्मिकों की सेवा समाप्त कर दी गई है और कई के खिलाफ वाद दायर कर जांच की जा रही है।

उधर इसकी भनक लगते ही वन विभाग के अनुभाग अधिकारी सतेंद्र बर्मन ने सभी अनुभाग अधिकारियों व निजी सचिवों को पत्र लिखकर बताया है कि अनुभाग-एक के तहत वन कार्मिकों की जांच से संबंधित जो पत्रावली मंगवाई गई थी, वह गायब है। यदि त्रुटिवश किसी अनुभाग या कार्यालय में यह पत्रावली हो तो उसे लौटा दिया जाए। यदि पत्रावली नहीं है तो उसकी जानकारी भी अनुभाग को दे दी जाए।

अपर सचिव, वन, सुभाष चंद्र का कहना है कि उन्हें अभी इस सम्बन्ध में कोई जानकारी नहीं है। सम्बंधित जानकारी अनुभाग अधिकारी से मांगी जाएगी। यदि इसे गायब किया गया है तो यह गंभीर मामला है। इस बारे में जल्द आवश्यक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button