Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

शादी में दूल्हा-दुल्हन को हल्दी लगाए जाने का महत्व

नई दिल्‍ली: हमारे कल्‍चर में शादी को बहुत बड़ा संस्कार माना जाता है, जिसके लिए दुनिया भर के रीति-रिवाजों निभाये जाते हैं, यहां हर परंपरा का कुछ ना कुछ मतलब होता है. उनमें से सबसे लोकप्रिय है हल्दी का लगना. कोई भी शादी बिना हल्दी के पूरी नहीं होती है. हल्दी का प्रयोग हमारे यहां काफी पवित्र माना गया है. कहते हैं ना कोई भी शुभ काम करना हो तो पहले लोग हल्दी को छुते हैं. शादी जैसे पवित्र बंधन में बंधन से पहले लड़के-लड़की की हल्दी की रस्म होती है. यह तो सब जानते हैं कि भारतीय परम्पराओं में शादी से पहले दूल्हा-दुल्हन को हल्दी लगाई जाती है जिसका शादी में एक महत्वपूर्ण स्थान होता है पर क्या आप जानते हैं कि हल्दी लगाई क्यों जाती है:-

क्‍या यह इतना खास बनाता है

हल्दी को भारतीय व्यंजनों में काफी महत्वपूर्ण मसाला माना जाता है और यही एक कारण है कि मसाले के चारों ओर डिज़ाइन की गई एक विशेष घटना है, जिसे आमतौर पर हल्दी समारोह के रूप में जाना जाता है. आमतौर पर यह समारोह दुल्हन के साथ-साथ दूल्हे के घर पर या तो शादी के दिन से पहले या सुबह आयोजित किया जाता है. समारोह के दौरान दूल्हा और दुल्हन के चेहरे, गर्दन, हाथ और पैरों पर हल्‍दी के पेस्ट लगाए जाते हैं. इस समारोह में लोक गीतों और डांस भी किया जाता है. आइये जानते हैं कि हलदी आखिर इतनी महत्‍वपूर्ण कैसे है:-

शुभ रंग

भारतीय परंपरा के अनुसार हल्दी का पीला रंग बहुत शुभ माना जाता है. यह कहा जाता है कि पीला नए जोड़े के लिए एकदम सही है जो युगल के लिए समृद्धि से भरा जीवन शुरू करने की उम्मीद कर रहे हैं. यही कारण है कि कई संस्कृतियों में दूल्हा और दुल्हन अपनी शादी के दिन पीले कपड़े पहनते हैं.

ग्लो के लिए

पुराने दिनों में, जब कॉस्मेटिक सौंदर्य उपचार और सैलून उपलब्ध नहीं थे, तो भारतीयों ने अपने प्राकृतिक सौंदर्य रहस्यों का उपयोग यह सुनिश्चित करने के लिए किया कि उनकी शादी के दिन वे सबसे अलग दिखे. हल्दी में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो त्वचा को साफ और चमकदार बनाते हैं. हल्दी अपने औषधीय गुणों के साथ-साथ एंटीसेप्टिक होने के लिए भी जाना जाता है.

शरीर की सुंदरता

हल्दी शरीर को शुद्ध और साफ़ भी करती है, क्योंकि इसे एक प्रभावी एक्सफ़ोलीएटिंग एजेंट के रूप में जाना जाता है. हल्‍दी समारोह के बाद, जब पेस्ट बंद हो जाता है, तो यह मृत कोशिकाओं से छुटकारा पाने में मदद करता है और त्वचा को detoxify करता है.

बुरी नज़र को दूर रखती है हल्दी

अधिकांश लोगों का मानना है कि दूल्हा दुल्हन की हल्दी इसलिए लगाई जाती है क्योंकि हल्दी बुरी आत्माओं को दूर रखती है. इसलिए हल्दी सेरेमनी के बाद दूल्हा दुल्हन को शादी तक घर से बहार नही निकलने दिया जाता.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button