Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

विकासनगर में युवक के अपहरण के बाद हत्या से भड़की भीड़, पुलिस ने किया लाठी चार्ज

युवक के शव की बरामदगी के लिए गिरफ्तार युवकों से पूछताछ जारी

विकासनगर: पांच दिन पूर्व विकासनगर क्षेत्र से अपहृत त्यूणी क्षेत्र के झिटाड़ निवासी युवक की हत्या को लेकर लोगों के गुस्से ने रविवार को उग्र रूप ले लिया। गुस्साई भीड़ ने सड़क पर उतर कर जबरन बाजार बंद करवाकर दिल्ली-यमुनोत्री हाइवे जाम कर दिया। इस बीच कुछ शरारती तत्वों ने पुलिस टीम पर पथराव कर दिया। जाम लगा रहे लोगों ने पुलिस और प्रशासनिक टीम पर पथराव कर दिया। इस पर पुलिस टीम ने पहले लाठीचार्ज और फिर हवाई फायरिंग की।

इस बवाल में 15 से अधिक ग्रामीण घायल हो गए। वहीं पथराव में एसडीएम जितेंद्र कुमार, सीओ भूपेंद्र सिंह धोनी एवं प्रेमनगर थानाध्यक्ष समेत आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल हुए, जबकि सीओ की सरकारी जीप समेत कई वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। एसएसपी निवेदिता कुकरेती व एसपी देहात परविंदर डोभाल समेत एसडीएम जितेंद्र कुमार मौके पर डटे हुए हैं। उन्होंने बताया कि पुलिस पर पथराव करने वाले करीब 12 लोगों को हिरासत में लिया गया है। मामले में पुलिस ने 12 लोगों के खिलाफ नामजद और 200 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने बाजार को खाली कराकर फ्लैग-मार्च किया।

बता दें 16 जनवरी को झिटाड त्यूनी निवासी मोती सिंह विकासनगर के जीवनगढ़ में मकान निर्माण का काम करा रहे थे। बुधवार को उनका दो स्थानीय युवकों नदीम और अहसान से विवाद हो गया था। उसी रात से मोती सिंह गायब था। परिजनों ने अगले ही दिन अनहोनी की आशंका जताते हुए तहरीर दी थी। पुलिस ने मामले में नामजद दो आरोपितों को हिरासत में ले लिया है। पूछताछ में उन्होंने पुलिस को बताया कि मोती की हत्या के बाद उन्होंने शव को शक्तिनहर में फेंक दिया था। इसके बाद आरोपियों के खिलाफ अपहरण के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया।

शव की बरामदगी के लिए रविवार को देहरादून से एसडीआरएफ टीम बुलाई गई और ढकरानी विद्युत गृह व शक्तिनगर में सर्चिंग की। हालांकि, शव बरामद नहीं हुआ। एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि हिरासत में लिए गए दोनों आरोपितों से पूछताछ जारी है। शव की बरामदगी के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं। तनाव को देखते हुए क्षेत्र में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button