Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

पालिका बोर्ड बैठक: 59 प्रस्ताव स्वीकृत, झड़ीपानी-हैप्पी वैली के लिए नई बस होगी संचालित

बैठक में मालरोड पर सीसीटीवी लगाने, सफाई कर्मचारी बढाने का निर्णय

Story Highlights
  • अगली बोर्ड बैठक में गायब फाइल प्रस्तुत नही हुई , तो पुलिस में प्राथमिकी कराई जायेगी दर्ज: अनुज गुप्ता
  • पालिकाध्यक्ष ने राजाजी नेशनल पार्क द्वारा पालिका भूमि के मुआवजे से सम्बंधित फाइल गायब होने पर कर्मचारियों व अधिकारियों को दी FIR की चेतवानी
  • पालिका से संबंधित जन सामान्य की शिकायत दर्ज करने के लिए जल्द जारी होगा हेल्पलाइन नंबर

मसूरी। नगर पालिकाध्यक्ष (municipal chairman) अनुज गुप्ता (anuj gupta) की अध्यक्षता में हुई नगर पालिका परिषद की मासिक बोर्ड बैठक (board meeting) में 59 प्रस्ताव स्वीकृत हुए, जबकि दो प्रस्तावों पर आगामी बैठक में रखने का निर्णय लिया जायेगा। बैठक में पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने कहा कि नगर पालिका परिषद शहर की स्वच्छता के लिए जरूरी प्रयास कर रही है। वहीं उन्होंने राजाजी नेशनल पार्क (rajaji national park) द्वारा पालिका भूमि के मुआवजे से सम्बंधित फाइल गायब होने पर कर्मचारियों व अधिकारियों को चेताया कि यदि सम्बंधित फाइल नही मिली, तो पुलिस में FIR दर्ज कराई जायेगी।

बोर्ड बैठक में निर्णय लिया गया है कि पालिका द्वारा जीर्णशीर्ण भवनों के प्रमाण पत्र जारी करने का शुल्क लिया जायेगा। इसके साथ ही तय किया गया कि पालिका से संबंधित जन सामान्य की शिकायत दर्ज करने के लिए जल्दी ही हेल्पलाइन नंबर जारी किया जायेगा। वहीं बार्लोगंज डिस्पेंसरी के लिए शीघ्र चिकित्सक व फार्मेसिंस्ट की व्यवस्था करने का निर्णय भी बैठक में लिया गया। जबकि लाइब्रेरी डिस्पेंसरी चलाने के लिए किसी संस्था से चल रही वार्ता से अवगत कराया। बैठक में स्वच्छता समिति के स्वच्छकार का मानदेय बढाने के साथ ही बंदरों को पकड़ने के लिए निविदा जारी करने का निर्णय लिया गया।

बैठक की जानकारी देते हुए पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से पूरी मालरोड पर सीसीटीवी कैमरे लगाये जायेंगे, उन्होंने कहा कि संज्ञान में आया है कि राजाजी नेशनल पार्क द्वारा पालिका की भूमि का मुआवजा दिया जाना था, जिसकी फाइल गायब है। इस पर उन्होंने अधिकारियों व कर्मचारियों को चेतावनी दी है, कि अगली बैठक में फाइल प्रस्तुत की जाय अन्यथा पुलिस में प्राथमिकी दर्ज कराई जायेगी। उन्होंने कहा कि झड़ीपानी व हैप्पी वैली के लोगों के आने-जाने के लिए पालिका शीघ्र ही एक नई बस  का संचालन करेगी। पालिकाध्यक्ष ने बताया कि स्वच्छता को बढावा देने के लिए सफाई कर्मचारी बढाने के साथ ही कीन संस्था को और अधिक कार्य दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि बैठक से पूर्व विभिन्न विभागीय अधिकारियों की बैठक ली गई, जिसमे बिजली, पानी व सीवर की समस्याओं को सभासदों ने विभागों के समक्ष रखा है, जिस पर अधिकारियों को समस्याओं के समाधान करने के निर्देश दिए गये।

बैठक में नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. आरके सिंह, प्रभारी अधिशासी अधिकारी रमेश बिष्ट सहित सभासद जसबीर कौर, आरती अग्रवाल, नंद लाल सोनकर, प्रताप पवार, दर्शन रावत, पंकज खत्री, यशोदा शर्मा, सरिता पंवार, सरिता, गीता कुमाई, सुरेश थपलियाल,  मनीषा खरोला,  कुलदीप रौंछेला आदि मौजूद रहे।

कंपनी गार्डन व फिश एक्वेरियम को लेकर हंगामा

वहीं  इससे पहले बोर्ड बैठक में कंपनी गार्डन व फिश एक्वेरियम को लेकर सभासदों को बार-बार स्थानीय निवासियो से शुल्क वसूले जाने की शिकायते प्राप्त होने पर सभासदों द्वारा आज (31-01-2019) को हुई बोर्ड बैठक में सामूहिक रूप से एक शिकायती पत्र अध्यक्ष के समक्ष रखा गया। लेकिन शुल्क को लेकर चर्चा चल ही रही थी कि नगरपालिका की महिला कर्मचारी ने चर्चा के बीच सभासदो को गार्डन औऱ फिश एक्वेरियम में लोकल लोगो के प्रवेश के लिए आईडी जारी करने की नसीहत दे डाली, जिस पर सभासद जसवीर कौर औऱ आरती अग्रवाल भडक गए और उनकी कर्मचारी के साथ जबर्दस्त बहस हो गयी। मामला बढ़ता देख नगरपालिका टीएस ने हस्तक्षेप कर कर्मचारी को बैठने को कहा, जिसके बाद मामला शांत हुआ।

इस सम्बन्ध में सभासद जसवीर कौर ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि महिला कर्मचारी की बातों से साफ़ है कि उसकी कम्पनी गार्डन में पाटर्नरशिप है, इसी कारण वह बोर्ड मीटिंग के बीच मे बोल रही हैं। उन्होंने कहा कि इसकी शिकायत अध्यक्ष से की जाएगी औऱ कर्मचारी के खिलाफ कार्यवाही की माँग की जाएगी। साथ ही कहा कि दोनों पर्यटक स्थलों पर मनमानी की जा रही है, जबकि पालिका के साथ हुए समझौते के अनुसार दोनों जगहों पर स्कूली बच्चों व स्थानीय नागरिकों के लिए एंट्री पूरी तरह से फ्री है। जसबीर कौर ने कहा कि अब हमारी पूरी कोशिश रहेगी कि दोनों पर्यटक स्थलों को वापस लिया जाय।

वहीं पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने कहा कि किसी भी स्थानीय नागरिक को दोनों पर्यटक स्थलों पर जाने से रोका नही जा सकता है और कोई भी स्थानीय नागरिक अपनी कोई भी आईडी दिखाकर वहां जा सकता है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button