Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

आज प्रदेश के तीन लाख कर्मचारी हड़ताल पर, सरकार ने कसी कमर, पुलिस ने की किलेबंदी

सरकार और कर्मचारियों के बीच गतिरोध बरकरार

देहरादून: प्रदेश के तीन लाख सरकारी कर्मचारी आज 10 सूत्रीय मांगों को लेकर सामूहिक अवकाश पर रहेंगे। इस आंदोलन का नेतृत्व कर रही उत्तराखंड अधिकारी कर्मचारी शिक्षक समन्वय समिति के संयोजक मंडल की अपर मुख्य सचिव कार्मिक राधा रतूड़ी से वार्ता में कोई नतीजा नहीं निकलने के कारण सरकार और कर्मचारियों के बीच गतिरोध बरकरार है। वहीं, सरकार की ओर से फिर वार्ता की पहल को देखते हुए समन्वय समिति ने स्वास्थ्य विभाग की आपातकालीन सेवाएं, एंबुलेंस, रोडवेज बसों के संचालन, विद्युत उत्पादन एवं वितरण से सीधे जुड़े कर्मचारियों को सामूहिक अवकाश से छूट दी है।

वहीं सरकार ने भी कर्मचारियों के सामूहिक अवकाश को देखते हुए कमर कस ली है। दफ्तर आने वाले कर्मचारियों को सरकार की ओर से पूरी सुरक्षा उपलब्ध कराई जाएगी। सचिवालय प्रशासन ने सचिवालय के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों की छुट्टी पर रोक लगा दी है। प्रभारी सचिव सचिवालय प्रशासन इंदुधर बौड़ाई ने इस संबंध में सभी संयुक्त सचिवों, उप सचिवों, अनुसचिवों और अनुभाग अधिकारियों को आदेश जारी किया है। पत्र में कहा गया है कि समन्वय समिति के 31 जनवरी और चार फरवरी को घोषित आंदोलन के तहत किसी भी प्रकार का अवकाश न दिया जाए। अपरिहार्य स्थिति में ही अवकाश स्वीकृत हो। कहा गया है कि अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, सचिव, प्रभारी सचिव की संस्तुति के बगैर अवकाश न दिया जाए।
देहरादून शहर में रहेगी पुलिस की किलेबंदी
राज्य कर्मचारियों की प्रस्तावित हड़ताल के दौरान देहरादून शहर में किलेबंदी जैसी स्थिति रहेगी। शहर को चार जोन, 11 सेक्टर और 33 सब सेक्टर में बांटकर सुरक्षा चक्र तैयार किया गया है। सचिवालय के दोनों गेटों पर सीओ की अगुवाई में चार थाना प्रभारी और पीएसी तैनात रहेगी। उधर डीजीपी ने पुलिस अधिकारियाें के साथ बैठक कर सुरक्षा प्रबंधाें की समीक्षा की। कर्मचारियाें की हड़ताल के मद्देनजर पुलिस ने सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए हैं। पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूडी ने पुलिस मुख्यालय में अधिकारियों के साथ कर्मचारियों के आंदोलन को लेकर मंत्रणा की। हालांकि कर्मचारी नेताओं ने आवश्यक सेवाओं को बाधित न करने की घोषणा की है। डीजीपी के निर्देशाें के अनुपालन में आईजी गढ़वाल अजय रौतेला ने एसएसपी निवेदिता कुकरेती, एसपी सिटी श्वेता चौबे के साथ सुरक्षा व्यवस्था की तैयारियाें को अंतिम रूप दिया।

एसएसपी ने बताया कि कर्मचारियाें के आंदोलन के दौरान शहरभर में पुलिस सक्रिय रहेगी। थाना प्रभारी और चौकी प्रभारी सेक्टर और उप सेक्टर में लगातार भ्रमण करते रहेंगे। सचिवालय के बाहर ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मी आंदोलन की तमाम गतिविधियों की वीडियोग्राफी करेंगे।

सचिवालय के दोनाें गेटों पर सुरक्षा पर खास फोकस किया गया है। सचिवालय के सुभाष रोड और राजपुर रोड के गेटों पर दो सीओ, चार थाना प्रभारियों के अलावा महिला और पुरुष पीएसी की तीन कंपनियां तैनात रहेंगी। आशंका है कि आंदोलनकारी उन कर्मचारियाें को रोकने का प्रयास करेंगे, जो अपनी ड्यूटी पर जाना चाहते हैं। इस लिहाज से सचिवालय गेट पर ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मियाें को अलग से दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button