Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

राहुल बाबा स्टैंड क्लियर करो, अयोध्या में राम मंदिर चाहते हो या नहीं: शाह

त्रिशक्ति सम्मेलन में गरजे अमित शाह

देहरादून: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह आज दोपहर साढ़े 12 बजे देहरादून के परेड ग्राउंड त्रिशक्ति सम्मेलन में पहुंचे। अबकी बार 400 पार’ के संकल्प के साथ सम्मेलन से उन्होंने लोकसभा चुनाव का शंखनाद किया। उन्होंने देहरादून के परेड ग्राउंड से हरिद्वार और टिहरी लोकसभा के त्रिशक्ति सम्मेलन को संबोधित करते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश भरा व आगामी लोकसभा चुनाव में पार्टी को प्रचंड विजय दिलाने का आह्वान किया। उधर, देहरादून में अमित शाह को काले झंडे दिखाने पहुचे युवा कांग्रेस कार्यकर्ता को पुलिस ने रोका और उन्‍हें गिरफ्तार भी किया।

इस सम्मेलन में दोनों संसदीय सीटों से बूथ स्तर के करीब 17 हजार कार्यकर्ता पहुंचे।सम्मेलन में देहरादून, हरिद्वार और टिहरी लोकसभा क्षेत्र के बूथ इकाइयों के अध्यक्षों, बूथ पालकों और बूथ लेवल सहायक दो जुटे।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अमित शाह को फूलों का गुलदस्ता भेंट किया और शॉल ओढ़ाया। जिसके बाद अमित शाह ने अपना संबोधन शुरू किया। शाह ने कहा कि कार्यकर्ता पार्टी की रीढ़ की हड्डी है। बाकी पार्टीयां अपने नेताओं के आधार पर चुनाव जीतती हैं, लेकिन भाजपा अपने बूथ पर तैनान कार्यकर्ताओं की वजह से चुनाव जीतती है। कहा मैं भी 1982 में गुजरात में बूथ अध्यक्ष होता था। छोटा कार्यकर्ता पार्टी के साथ काम करता है, पार्टी उसे क्या मौका देती है, इसका उदाहरण खुद मैं हूं। छोटे कार्यकर्ता को पार्टी ने दुनियां की सबसे बड़ी पार्टी का राष्ट्रीय अध्‍यक्ष बनने का सम्मान दिया है। ये भाजपा के अलावा कहीं नहीं है। देशभर की अन्य पार्टियों में अध्यक्ष परंपरागत वंशवाद से आते हैं। भाजपा गरीब चाय बेचने वाले के बेटे को प्रधानमंत्री बनाती है। शाह ने अपना भाषण दोहपर 12:55 पर शुरू किया और करीब 45 मिनट तक कार्यकताओं को संबोधित करने के बाद 1:40 पर खत्‍म किया।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार ने फास्ट ट्रैक पर उत्तराखंड का विकास किया। उत्तराखंड मोदी जी का सबसे प्रिय राज्य है। प्रधानमंत्री ने केदारनाथ तीर्थ की कायाकल्प करने का काम किया है। केदारनाथ दुनियाभर के भारतीयों की श्रद्धा का केंद्र है। जिसकी कायाकल्प करने का काम भाजपा सरकार ने किया है। मोदी सरकार ने आलवेदर रोड बनाने के काम की शुरूआत की, जिसका 24 घंटे काम जारी है। केंद्र और राज्य सरकार ने हर वर्ग और हर गांव के लिए कुछ न कुछ करने का प्रयास एक साल के अंदर किया है। त्रिवेंद्र रावत सरकार ने भ्रष्टाचार को उत्तराखंड से उखाड़ देने का कार्य किया है।


अमित शाह ने कहा कि कल वित्तमंत्री पियूष गोयल के बजट को हर किसी ने सुना। लेकिन विपक्ष के लोगों के चेहरे की हवाईयां उड़ी हुई थी। कहा कि बजट से देश के किसानों को राहत मिली है। किसानों को बजट में दी गई राहत पर कांग्रेस उपेक्षा कर रही है। कांग्रेस अध्यक्ष को भी नहीं पता कि रबी और खरीफ की फसल कौन सी होती है। क्या उन्होंने किसानों का दर्द महसूस किया है। देवभूमि के सबसे ज्यादा वीर देश की रक्षा करते हैं। पियूष गोयल के रक्षा बजट में सेना और रक्षा प्रणालियों को फायदा होगा। हर क्षेत्र में नरेंद्र मोदी की सरकार ने पांच में बड़ा परिवर्तन किया है। और इस साल तीन लाख करोड़ रुपए का रक्षा बजट देकर नया इतिहास रचा है। सोनिया और मनमोहन की सरकार ने सेना के लिए कुछ नहीं किया। कांग्रेस ने 55 साल राज किया लेकिन सेना को ‘वन रैंक वन पेंशन’ स्वीकृत नहीं की। मोदी सरकार ने एक ही साल में इसे स्वीकृत कर सेनानियों को फायदा पहुंचाया। मोदी सरकार ने सबसे बड़ा रक्षा बजट दिया है।

मीडिया को बोफोर्स का मामला दिखता है और एक लाख करोड़ का घोटाला कांग्रेसी चूहे धीरे-धीरे खा जाते हैं। नरेंद्र मोदी सरकार ने इन घोटालों को खत्म किया है। प्रधानमंत्री ने पारदर्शी सरकार देने का काम किया है। आयुष्मान योजना के तहत देश के 50 करोड़ लोगों बीमारी में पांच लाख तक का सारा खर्चा भारतीय जनता पार्टी की नरेंद्र मोदी सरकार उठाती है। तीन माह में इस योजना के तहत 10 लाख लोगों का ऑपरेशन हुआ है। त्रिवेंद्र सरकार ने उत्तराखंड के लोगों के लिए भी यह योजना लागू की है।

कहा कि गठबंधन किसी भी तरह काम नहीं करेगा। इन नेताओं को उत्तराखंड में सुनने कोई नहीं आएगा। ये सब अपने राज्य के नेता हैं। और पीएम मोदी पूरे देश के नेता हैं। कभी एक दूसरे का मुंह न देखने वाले बुआ भतीजा भी एक मंच पर आ गए हैं। उन्होंने कहा कि जातिवाद की राजनीतिक, परिवारवाद की राजनीतिक बंद करनी होगी। ये देश का भला नहीं कर सकती। सारे गठबंधन के लोग कहते हैं, मोदी हटाओ, मोदी कहते हैं गरीबी हटाओ, मोदी कहते हैं भ्रष्टाचार हटाओ, बीमारी हटाओ। वे कहते हैं मोदी हटाओ। उनका एक मात्र उद्ददेश्य मोदी हटाओ है। वो जितना नाम मोदी का लेते हैं, यदि नारायण का नाम लेते तो उनका भला हो जाता। गठबंधन वाले लोग देश का भला नहीं कर सकते हैं। उत्तरप्रदेश के अंदर अभी दो एक साथ हुए हैं। चार भी एक साथ हो जाएं, तब भी बहुमत भाजपा को मिलेगा। गठबंधन सर्जिकल स्ट्राइक नहीं करा सकता।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अभी कुंभ चल रहा है। राममंदिर का मुद्दा उठ रहा है। उठना भी चाहिए। इस मामले में भाजपा की स्पष्ट नीति है, उसी जगह पर भव्य राम मंदिर जल्दी बनना चाहिए। किसी को दुविधा में रहने की जरूरत नहीं है। जब भी राम मंदिर बनाने को कोर्ट में केस आता है तो कांग्रेस अड़ंगा लगाती है। कहा, राहुल बाबा स्टैंड क्लियर करो। वहां राम मंदिर चाहते हो या नहीं।

उन्होंने आह्वान किया कि मित्रों उत्तराखंड में फिर से भाजपा की सरकार बनानी है। उत्तराखंड पर तो भाजपा का अधिकार है। चुनावों में उत्तराखंड ऐसी प्रचंड विजय दे कि विरोधियों की धड़कनें रुक जाएं। दुनिया का सबसे लोकप्रिय नेता नरेंद्र मोदी भाजपा के पास है। जब भी इतिहास लिखा जाएगा तब गौरव से प्रधानमंत्री का नाम स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा। त्रिवेंद्र सरकार ने ऐसा कोई काम नहीं किया जब कार्यकर्ता को सिर झुकाना पड़े। इसलिए सीना चौड़ा कर जनता के पास जाइए। इसके बाद भारत माता की जय के साथ अमित शाह ने संबोधन समाप्त किया।

इससे पहले सम्‍मेलन में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि बजट में कामगारों से लेकर सेना के लिए दिया उससे भारत का उज्ज्वल भविष्य नजर आता है। भाजपा कार्यकर्ता सभी पांचो सीट जीता कर संगठन को देंगे।

मंच पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, उत्तराखंड लोकसभा चुनाव के प्रभारी थावर चंद गहलौत, पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पार्टी प्रभारी श्याम जाजू, प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, सह महामंत्री संगठन शिव प्रकाश और पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा मौजूद रहे।

सम्मेलन के बाद शाह ने दोनों लोकसभाओं के चुनिंदा नेताओं के साथ अलग से बैठक की। इस बैठक में प्रदेश अध्यक्ष, मुख्यमंत्री, मंत्री और विधायकों के अलावा लोकसभा प्रभारी, सह प्रभारी, विस्तारक और मोर्चों के पदाधिकारी मौजूद रहे। इस बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष दोनों लोकसभाओं की जमीनी हकीकत का पता लगाया। इस बैठक के बाद शाह अमरोहा के लिए रवाना हो गए।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button