Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

महात्मा गाँधी के खिलाफ वैमनस्य फ़ैलाने वालों हो जाओ सावधान! शकुन पांडेय गिरफ्तार

कोई पछतावा नहीं. हमने कोई अपराध नहीं किया: आरोपी

नई दिल्‍ली: राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के खिलाफ वैमनस्य फ़ैलाने वालों हो जाओ सावधान! पुलिस ने महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के पुतले को गोली मारने की आरोपी अखिल भारत हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडेय और उनके पति अशोक पांडेय को टप्‍पल से गिरफ़्तार कर आज स्थानीय अदालत में पेश किया गया. यहां से दोनों को जेल भेज दिया गया. इससे पहले मीडिया को पूजा ने कहा कि “कोई पछतावा नहीं. हमने कोई अपराध नहीं किया है. हमने अपने संवैधानिक अधिकार का इस्तेमाल किया है.


बता दें अखिल भारत हिंदू महासभा ने एक कार्यक्रम का आयोजन किया था. इस कार्यक्रम का नाम महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की याद में शौर्य दिवस रखा था. इसमें पूजा शकुन पांडेय ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी को गद्दार बताया. पूजा ने गांधी जी के पुतले को तीन गोली मारकर उसका दहन किया. गोडसे को भगवान कृष्ण की संज्ञा दी. शकुन ने कहा था कि नाथूराम गोडसे ने देश का बंटवारा कराने वाले का वध किया था. इसीलिए अखिल भारत हिंदू महासभा 30 जनवरी को गांधी वध को शौर्य दिवस के रूप में मनाती है. जैसे गोडसे ने गांधी के वध किया था, ठीक उसी तरह से महासभा ने भी प्रदर्शन किया है. हम गोडसे पर गर्व करते हैं. मामले में गांधी पार्क थाने के एसआई संजीव कुमार ने अखिल भारतीय हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडेय, उनके पति अशोक कुमार पांडेय, मनोज, राजीव, जयवीर शर्मा, अभिषेक, गजेंद्र कुमार, अनिल वर्मा, महिला कार्यकर्ता उत्तमा सिंह व एक अज्ञात सहित कुल दस लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है.

दो दिन पहले उनकी लोकेशन हरियाणा में मिली तो मंगलवार रात पुलिस ने दोनों को दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया गया. दोनों को लेकर पुलिस अलीगढ़ के लिए रवाना हो गई है. इस मामले में पुलिस ने पिछले दिनों सात लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. वहीं पूजा और अशोक फरार चल रहे थे. दोनों ने कोर्ट में सरेंडर याचिका दायर कर दी थी. सरेंडर करने के बजाय दोनों पुलिस को भ्रमित करने के लिए कुंभ में अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने की घोषणा कर दी थी. पूजा शकुन पांडेय और उसके पति अशोक पाण्डेय को अलीगढ़ पुलिस ने मंगलवार रात दिल्ली से नोएडा में प्रवेश करते समय टप्‍पल से गिरफ्तार कर लिया था. पुलिस दोनों को लेकर अलीगढ़ के लिए रवाना हो गई थी. इलाहाबाद में मौजूदगी दर्शाकर दोनों ने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की लेकिन सर्विलांस टीम उनके मोबाइल फोन की लोकेशन ट्रैस करती रही.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button