Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

कांग्रेस नेता देवेंद्र चौरसिया की हत्या से हटा नगर में तनाव

भारी पुलस बल तैनात 2 बजे नगर के मुक्तिधाम में होगा अंतिम संस्कार

  1. आक्रोशित लोग सड़क पर

     

पथरिया विधायक राम बाई सिंह के परिजनों सहित जिला पंचायत अध्यक्ष पुत्र पर आरोप  विभिन्न धाराओं के तहत रिपोर्ट दर्ज,आरोपी फरार, गुस्साए नागरिकों ने हटा किया बंद

 

यूसुफ पठान  दमोह(हटा)

हाल ही में बसपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए हटा के दिग्गज नेता देवेंद्र चौरसिया की हत्या के बाद हटा में हालात तनावपूर्ण है। मारपीट में घायल देवेंद्र चौरसिया और उनके पुत्र सोमेस चौरसिया को जबलपुर रेफर किये जाने के बाद जबलपुर में देवेंद्र चौरसिया की मौत की खबर मिलते ही हटा क्षेत्र में मातम पसर गया , घटना से नाराज लोग अपने प्रतिष्ठान और बाज़ार बन्द कर प्रदर्शन शुरू करने लगे वन्ही कांग्रेसियो ने भी सभी आरोपियों की गिरफतारी की मांग कर सर्किट हाउस में अधिकारियों से मुलाकात की,मामले की गम्भीरता को देखते हुए सागर रेंज के आई जी सतीशचन्द्र सक्सेना,डी आई जी दीपक शर्मा,कमिश्नर मनोहर दुबे सहित कलेक्टर और sp सहित जिले की कई थानों की पुलिस हटा पँहुच गई ,वरिष्ठ अधिकारियों ने घटनास्थल का जायजा लेकर पुलिस को कार्यवाही कर आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी के निर्देश दिए हैं।

बता दे कि बीती 10 मार्च को बसपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए कद्दावर नेता देवेंद्र चौरसिया और उनके पुत्र सोमेश चौरसिया पर उनके प्लान्ट पर  शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे दर्जन भर लोगों ने जानलेवा हमला कर दिया था जिसके बाद दोनों को जबलपुर रेफर किया गया जंहा इलाज के दौरान देवेंद्र चौरसिया की मौत हो गई। घटना की शुरुआती बजह राजनीतिक रंजिस बताई जा रही है, हाल ही में पथरिया मंडी अध्यक्ष खरगराम पटेल पर हुए हमले और जिला पंचायत अध्यक्ष के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव को लेकर इस घटना को अंजाम देने की अटकलें लगाई जा रही है।

पूरे मामले में घायलो और परिजनों के बयानों के बाद हटा पुलिस ने पथरिया विधायक रामबाई सिंह के पति गोविंद सिंह, देवर चंदू सिंह ,जिला पंचायत दमोह के अध्यक्ष पुत्र इंद्रपाल पटेल सहित कुल 7 नामजद आरोपियों पर हत्या के प्रयास सहित कई धाराओं के प्रकरण दर्ज किया था घटना के बाद से ही हमलावर मौके से फरार हो गए थे जिनकी गिरफतारी को लेकर हटा में लोगो ने प्रदर्शन भी किया हालांकि अधिकारियों की समझाइस के बाद देर रात मामला शांत हुआ है।

लेकिन शानिवार खबर लिखे जाने तक हटा बन्द रहा। सुरक्षा के लिए बड़ी संख्या में पुलिस दल चप्पे चप्पे पर तैनात हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button