Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

शर्मसार हुई मानवता,20घंटे बाद हुये पोस्टमार्टम के बाद सिर पर ले जाना पड़ा बच्ची का शव 

ब्यूरो रिपोर्ट

शर्मसार हुई मानवता,20घंटे बाद हुये पोस्टमार्टम के बाद सिर पर ले जाना पड़ा बच्ची का शव 


बीते रोज तकरीबन 3 बजे गलत इंजेक्शन लगाने से 6 साल की बच्ची की मौत हो गई परिजनों को शव रख के करीब 20 घण्टे पोस्टमार्टम के लिए इंतजार करना पड़ा उसके बाद शव ले जाने को भी शव वाहन नसीब नही हुआ तब परिजन अपनी 6 साल की बच्ची का शव सर पर रख कर ले गए ग्रामीणों के झलके आँशु

क्या था मामला
नगर में रहने वाली 6 वर्ष की मासूम राधा पटेल की तबियत बिगड़ने पर इलाज के लिये सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र ले जाया गया जहाँ बी एम ओ की उपस्थिति मे कंपाउंडर के इंजेक्शन लगाने से मृत हुई बच्ची।
जानकारी अनुसार वार्ड नंबर 1 में रहने वाली राधा पटेल उम्र 6 वर्ष पिता निर्पत पटेल की बच्ची को ब्रजेश अहिरबार कंपाउंडर द्वारा गलत इंजेक्शन लगाने से मासूम राधा की जान चली गई।
पीड़ित परिजनों द्वारा थाना बक्सवाहा में कंपोंडर ब्रजेश अहिरबार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की मांग की गई हैं
बीएमओ का संरक्षण
सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र में विगत वर्षों से जमे बीएमओ एलएल अहिरवार बीते वर्षों में कई बार हुये स्थानांतरण के बाद भी बक्सवाहा सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र में जस के तस जमे हुए है। ब्रजेश अहिरवार के परिवार को मिले बीएमओ एलएल अहिरवार के संरक्षण के चलते मजदूरी का कार्य करने वाले ब्रजेश अहिरवार को सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र में NRC में स्वीपर के पद पदस्थ करने के बाद अपने शासकीय चेम्बर पर ड्रेसिंग के कार्य के साथ साथ इंजेक्शन लगवाने के कार्य भी करवाये जाने लगे और नतीजे आप सबके सामने है।
सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र बक्सवाहा में वर्षों से जमे हुये है बक्सवाहा सामुदायिक स्वास्थ के अंतर्गत आने वाली 39 ग्राम पंचायतों के मुखिया बने बैठे बीएमओ एलएल अहिरवार द्वारा लगातार की रही अनियमितताओं से त्रस्त ग्रामीणों द्वारा कई बार ज्ञापन, चक्काजाम, सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र का घेराव जैसे अनेकों आंदोलन करने के बाद भी सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र पर ग्रहण की तरह लगे बीएमओ बक्सवाहा छोड़ने का नाम नही ले रहे।

पीड़ित परिवार को नही हुआ शव वाहन नसीब
तकरीबन 2 लाख तक कि आबादी वाले बक्सवाहा क्षेत्रान्तर्गत होने वाली घटनाओ में मृत शव को रखने हेतु साइकिल, हाथठेला, चारपाई का उपयोग ही करना पड़ता है ग्रामीणों द्वारा नेताओं, जनप्रतिनिधियों, विधायक, सांसदों से कई बार गुहार लगाने के बाद भी शव वाहन से वंचित है बक्सवाहा।

इनका कहना है झाम सींग तहसीलदार
बकस्वाहा ब्लॉक के लिए कोई भी शव वाहन नही मिला जबकी 121 गांव आते है नगर परिषद को अस्पताल प्रबंधन को शव वाहन की व्यवस्था करनी चाहिय

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button