Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

बंदी भाइयों को जेल में तिलक लगाने पहुँची बहने

दमोह-जिला जेल में खिड़की से हो रही मुलाक़ात

 भाई दोज के अवसर पर  जेल में  भारी संख्या में पुलिस बल तैनात,सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम  के बीच महिलाएं/बहिने  खिड़की से  कर रही मुलाकात !

यूसुफ पठान दमोह/

भाईदूज के अवसर पर बड़ी संख्या में महिलाओं ने जेल पहुँच कर अपने अपने भाइयों से मुलाकात की लेकिन सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए अपने जेल में बंद परिजनों से मिलने पहुँची महिलाओ को खिड़की से है मुलाक़ात करने का अवसर मिल सका।

उप जेल अधीक्षक रामलाल सहलाम ने बताया जेल की सुरक्षा व्यवस्था को दृष्टिगत रखते हुये जेल नियमावली के प्रावधान का पालन करते हुये इस बार  होली, भाईदूज के पर्व पर दी जाने वाली खुली मुलाकात पर पूर्ण प्रतिबंध है एवं मुलाकात एवं सुरक्षा व्यवस्था प्रभावित न हो इस हेतु परिरूद्ध बंदियों से मिलने आने वाली माताएं एवं बहनों को खुली मुलाकात न दी जाकर खिड़की से मुलाकात दी जा रही हैं, ज्ञातव्य है मध्यप्रदेश की जेलों में पूर्व परम्परा अनुसार रक्षा बंधन, दीपावली, भाईदूज एवं होली के पर्व पर खुली मुलाकात जेल के अंदर से कराई जाती थी, उक्त मुलाकात व्यवस्था का म.प्र.जेल नियमावली 1968 में कोई प्रावधन नहीं होने के कारण जिला जेल दमोह में परिरूद्ध बंदियों की उनके परिजनों, माताएं एवं बहनों से रक्षाबंधन पर्व 2018 से जेल के अंदर से दी जाने वाली समस्त मुलाकात व्यवस्था में पूर्ण प्रतिबंध है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button