Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

शॉपिंग कांप्लेक्स में हो रहे घटिया निर्माण की खुली पोल

सतना से रवि शंकर पाठक की रिपोर्ट

मौके पर कार्यपालन यंत्री ने ठेकेदार को दिखाया आईना
मंगर उपयंत्री बने रहे धृतराष्ट्र

उचेहरा ।

नगर परिषद उचेहरा द्वारा कराए जा रहे कार्य घटिया निर्माण की बलि चढ़ गए हैं इस मामले में जारी निर्माण कार्यों का निरीक्षण नहीं किया जाता है और ना ही मौके पर नगर परिषद के आला अधिकारी जाते हैं जहां निरीक्षण का जुम्मा उपयंत्री के ऊपर है वही सीएमओ और अध्यक्ष का जुम्मा भुगतान के लिए है लेकिन यह सभी केवल कमीशन के चक्कर में नगर के साथ सौतेला व्यवहार कर रहे हैं जिसके चलते नगर में घटिया निर्माण चंद दिनों के ही होते हैं और उन्हें उन्हीं कार्यों को कराया जाता है जिससे सभी का कमीशन बनता रहता है

नगर परिषद उचेहरा के निर्माण कार्यों में इस प्रकार की अनदेखी की जा रही है रीवा से आकर कार्यपालन यंत्री ने स्थानीय उपयंत्री को उसके गुणवत्ता विहीन कार्यों को सबके सामने दिखाया मगर उपयंत्री द्वारा पूरे नगर में घटिया निर्माण कार्यों का ठेका ले लिया गया है जिसके कारण से कार्य होते ही नालियां नष्ट हो जाती है और सड़कें उखाड़ने लगती है लेकिन बस स्टैंड के पास निर्मित शॉपिंग कांप्लेक्स निर्माणाधीन है जिसमें हजारों लोग रहेंगे उनकी सुरक्षा की पुख्ता इंतजाम नहीं किए जा रहे हैं और घटिया निर्माण कर कार्य की इतिश्री कर ली जा रही है जिसके कारण यहां पर कार्यालय भवन ही बनना है जो नक्शे के मुताबिक नहीं बन रहा है लेकिन मनमानी तरीके से हो रहे कार्य का भुगतान किस प्रकार कर दिया जाता है यह भी प्रश्न चिन्ह बना हुआ है यदि नक्शे के मुताबिक कार नहीं किया जा रहा है तो फिर किस से भुगतान की वसूली की जाएगी इस मामले में जहां उपयंत्री दोषी हैं वहीं सीएमओ भी दूध के धुले नहीं हैं इन सब को अपना हिस्सा मिल जाए कार कैसा हो इनसे कोई मतलब नहीं है पहले बनी थी 17 नगर पालिका के सूत्रों के मुताबिक पहले नगर पंचायत उचेहरा में 17 दुकानें बनी थी जिनमें 34 दुकाने बनाई जा रही हैं जो नक्शे में नहीं है तो फिर यह नक्शा किसने बालक दिया और इस का बजट कैसे संधारित होगा इस मामले में परिषद के जिम्मेदार पदाधिकारी भी कम दोषी नहीं है कार्यालय की अनदेखी शॉपिंग कांप्लेक्स के ऊपर कार्यालय भवन बनना था लेकिन अब मनमानी करते हुए ठेकेदार ने केवल दुकाने बना रही है अब यह मामला किसी से छिपा नहीं है कि यहां पर पक्ष विपक्ष के जनपद सीधी अपना अपना दाव लगा रहे हैं कौन कितना सफल होता है यह तो आने वाला समय ही बताएगा 2 करोड़ में होना था काम जानकार बताते हैं कि शॉपिंग कांप्लेक्स और कार्यालय भवन 2 करोड़ की लागत से बनना था लेकिन अब केवल शॉपिंग कांप्लेक्स ही बन रहा है लिहाजा यह किसने परमिशन दी अभी भी प्रश्न चिन्ह बना हुआ है कैसे खुले घटिया निर्माण की खोज रीवा से कार्यपालन यंत्री हरिशंकर मिश्रा द्वारा कार्य का निरीक्षण किया गया और वहीं पर ठेकेदार को फटकार लगाते हुए कहा कि छत लेवल से जुड़ी हुई सरिया होनी चाहिए लेकिन 2 फुट ऊपर उठाकर घटिया निर्माण क्यों किया जा रहा है वही मसाले में भी घटिया निर्माण हो रहा है लेकिन आलम यह हो गया है कि जो निर्माण हो गया है उसको कैसे ठीक किया जाएगा उपयंत्री नहीं करते कार्यों का निरीक्षण उचेहरा में पदस्थ उपयंत्री आरबी त्रिपाठी द्वारा कार्यों का निरीक्षण नहीं किया जाता है और ठेकेदारों द्वारा स्वयं माप पुस्तिका में कारक दर्ज कर भुगतान करा लिया जाता है इसमें उपयंत्री के केवल हस्ताक्षर होते हैं यह माप पुस्तिका देखकर सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है दुकानों का निर्माण नक्शा के विपरीत जिन दुकानों का निर्माण हो रहा है वह नक्शा के विपरीत है नक्शे के मुताबिक नहीं बनाई जा रही हैं नक्शे के मुताबिक यह है कि जो बनी दुकानें हैं उन से 5 फीट की दूरी होनी चाहिए और 3 फुट ऊंचाई पर बनना चाहिए लेकिन ऐसा नहीं किया जा रहा है दुकाने सटा कर बनाई गई हैं जिसके कारण पुरानी बनी दुकानों में सीता रही है लिहाजा मामला गंभीर बनता जा रहा है

क्या कहा पार्षद ने
नगर परिषद का कार्यालय पुराने स्थान पर ही होना चाहिए क्योंकि स्टेशन और रामदेव वाला के बीच में पुराना कार्यालय भवन था अब नवीन भवन वहां पर बनना चाहिए इस पर किसी प्रकार की राजनीति उचित नहीं है आम जनता की सुविधा देखते हुए कार्य होना न्याय संगत होगा मुबारक अली भूरा
पार्षद नगर परिषद उचेहरा

इनका कहना है
नगर परिषद उचेहरा द्वारा शॉपिंग कांप्लेक्स का निर्माण किया जा रहा है उसके ऊपर कार्यालय बना था मगर वहां भी दुकानें बनाई जा रहे हैं इस मामले में नक्शा किसने परिवर्तित किया इसकी जानकारी मुझे नहीं है और रही बात घटिया निर्माण की तो ठेकेदार को कार सुधारने के निर्देश दिए गए हैं ।

हरिशंकर मिश्रा प्रभारी कार्यपालन यंत्री रीवा

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button