Select your Language: हिन्दी
BOLLYWOOD

निर्भया केस: फांसी टलने पर ऋषि कपूर ने निकाली अपनी भड़ास बोले- तारीख पे तारीख, तारीख पे तारीख

निर्भया केस: फांसी टलने पर ऋषि कपूर ने निकाली अपनी भड़ास बोले- तारीख पे तारीख, तारीख पे तारीख

नई दिल्ली। निर्भया गैंगरेप केस में चारों दोषियों की फांसी एक बार फिर से टल गई. दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया के हत्यारों की फांसी पर अगले आदेश तक रोक लगा दी है. अदालत ने ये रोक इस वजह से लगाई क्योंकि निर्भया के एक हत्यारे पवन की दया याचिका राष्ट्रपति के पास लंबित है जिस पर राष्ट्रपति ने अभी तक कोई फैसला नहीं लिया है. इसको लेकर एक्टर ऋषि कपूर ने अपनी प्रतिक्रिया दी है.

ऋषि कपूर ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर सनी देओल की फिल्म ‘दामिनी’ का डॉयलाग लिखा. उन्होंने लिखा, ” निर्भया केस. तारीख पे तारीख, तारीख पे तारीख, तारीख पे तारीख. दामिनी. ये बकवास है.” इस के अलावा अभिनेत्री सोनल चौहान भी इस फैसले से खुश नहीं हैं.

राष्ट्रपति के फैसले के बाद ही जारी होगा नया डेथ वारंट
वैसे तो निर्भया के हत्यारों को 3 मार्च सुबह 6 बजे फांसी के फंदे पर लटकाया जाना था. लेकिन कानून की खामियों का फायदा उठाते हुए निर्भया के हत्यारे पवन ने सुप्रीम कोर्ट से क्यूरेटिव याचिका खारिज होने के बाद राष्ट्रपति के पास दया याचिका लगा दी जिसके बाद अदालत ने इसी को ध्यान में रखते हुए फांसी की सजा को अगले आदेश तक टाल दिया है. अदालत का मानना था कि राष्ट्रपति कब दया याचिका पर फैसला करेंगे फिलहाल इस बारे में अंदाजा नहीं लगाया जा सकता लिहाजा दया याचिका पर फैसला आने के बाद ही नया डेथ वारंट जारी किया जाएगा.

दया याचिका लंबित होने का हवाला देकर रुकी फांसी
इससे पहले दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में सोमवार दोपहर सुनवाई हुई. अदालत ने 3 मार्च की सुबह 6 बजे लगने वाली फांसी पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था. इसके बाद दोषियों के वकील ने अदालत में पवन की तरफ से दया याचिका लगाने की बात कही. जिस पर अदालत ने सुनवाई के बाद यह तय किया कि राष्ट्रपति का फैसला आने तक कोई नया डेथ वारंट जारी नहीं किया जा रहा.

पहले भी दो डेथ वारंट पर लग चुकी थी रोक, अब तीसरे पर भी लगी रोक
यह तीसरा डेथ वारंट है जिस पर अदालत ने रोक लगाई है इससे पहले पहला डेथ वारंट 7 जनवरी को जारी हुआ था. जिसके तहत 22 जनवरी को फांसी होनी थी. उस डेथ वारंट पर कार्रवाई होने से पहले ही 17 जनवरी को एक नया डेथ वारंट जारी हो गया क्योंकि निर्भया के हत्यारे विनय ने राष्ट्रपति के पास दया याचिका लगाई हुई थी. इस दूसरे डेथ वारंट पर भी 1 फरवरी को रोक लग गई क्योंकि बाकी 2 हत्यारों पवन और अक्षय के पास कानूनी विकल्प मौजूद थे. इसके बाद एक बार फिर 17 फरवरी को डेथ वारंट जारी किया गया. जिस पर एक बार फिर रोक लग गई है. ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि हत्यारे पवन ने राष्ट्रपति के पास दया याचिका लगा रखी है जिस पर कोई फैसला नहीं आया है.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button