Select your Language: हिन्दी
BOLLYWOOD

ऋचा चड्डा ने पायल घोष के खिलाफ दर्ज कराया 1.1 करोड़ का मानहानि का मुकदमा, जाने क्या है वजह?

मुंबई. बॉलीवुड डायरेक्टर अनुराग कश्यप पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली अभिनेत्री पायल घोष अब खुद मुश्किल में फंस गई हैं. दरअसल एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा द्वारा पायल घोष पर 1.1 करोड़ का मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया गया है। ऋचा चड्ढा ने पायल पर आरोप लगाया है कि उन्होने एक न्यूज चैनल पर दिए इंटरव्यू में उनके खिलाफ काफी अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया है.

कोर्ट में 7 अक्टूबर को होगी सुनवाई

ऋचा ने मानहानि का दावा करते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी. फिलहाल हाईकोर्ट ने मामले में फैसले को सुरक्षित रखते हुए सुनवाई की तारीख 7 अक्टूबर दी है. कोर्ट ने यहा भी कहा कि जिनके खिलाफ केस दर्ज किया गया है उन्हे नोटिस नहीं दिया गया था इसी कारण उन्हे कोर्ट के समक्ष पेश होने के लिए एक दिन का समय दिया गया है.

पायल के बयान से भड़की ऋचा

बता दें कि अभिनेत्री पायल घोष ने हाल ही में डॉयरेक्टर अऩुराग कश्यप पर यौन शोषण का आरोप लगाया था जिसके बाद वह सुर्खियों में छा गईं थी. इस दौरान उन्होने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में अपना पक्ष रखते हुए विवादित बयान दे डाला था. पायल ने कहा था कि बॉलीवुड में ऐसी कईं अभिनेत्रियां हैं जो अनुराग के साथ काम करने के लिए कुछ भी करने को तैयार रहती हैं. उन एक्ट्रेसेज में ऋचा चड्ढा, माही गिल और हुमा कुरैशी का नाम उन्होने लिया था। पायल के इस बयान के बाद ऋचा काफी भड़क गईं थी जिसके बाद उन्होने पायल घोष के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करते हुए उन्हे लीगल नोटिस भी भेजा था.

दर्ज कराया मानहानि का केस

ऋचा चड्ढा का कहना है कि उनका नाम गलत तरीके से अनुराग कश्यप पर यौन शोषण का आरोप लगाने के बाद उछाला गया है. इसी कारण उन्होने पायल के खिलाफ मानहानि का केस दर्ज कराया है. मामले की सुनवाई मंगलवार को हुई जिसमे दूसरे पक्ष से कोर्ट में कोई भी उपस्थित नहीं हुआ. जिसके बाद बॉम्बे हाईकोर्ट ने केस की सुनवाई की तारीख 7 अक्टूबर दे दी है. कोर्ट ने कहा कि जवाबकर्ताओं को चूंकि नोटिस नहीं दिया गया था इस सूरत में उन्हे नोटिस भेजा जाए.

राष्ट्रीय महिला आयोग के सामने पेश होंगी पायल

पायल घोष इस समय दिल्ली में हैं. दरअसल उन्हें मंगलवार यानी आज राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) के सामने भी पेश होना है. अभिनेत्री के साथ उनके वकील नितिन सतपुते भी हैं. बहरहाल अब राष्ट्रीय महिला आयोग के सामने दो मामले हैं. पहला पायल घोष द्वारा अनुराग कश्यप पर लगाया गया यौन शोषण के आरोप का मामला और दूसरा ऋचा चड्ढा द्वारा दायर किया गया मामला.

Show More

Related Articles

Back to top button