Select your Language: हिन्दी
BOLLYWOOD

मुकेश खन्ना ने कहा था- महिलाओं के घर से बाहर निकलने पर होता है मीटू, हुए जबर्दस्त ट्रोल, अब दी सफाई

मुंबई। अभिनेता मुकेश खन्ना ने कहा था कि ‘ये ‘मी टू’ की प्रॉब्लेम तब शुरू हुई, जब महिलाओं ने घर से बाहर निकलकर काम करना शुरू किया.’ इस टिप्पणी को लेकर मुकेश सोशल मीडिया पर वह काफी ट्रोल हो रहे हैं. अभिनेता का ‘मी टू’ पर राय रखने से संबंधित एक वीडियो सोशल मीडिया पर इस बीच खूब वायरल हुआ. वीडियो में मुकेश को यह कहते सुना गया, “औरत का काम है घर संभालना, प्रॉब्लेम कहां से शुरू हुई है ‘मी टू’ की, जब औरतों ने भी बाहर काम करना शुरू कर दिया. आज औरत मर्द के कंधे से कंधा मिलाकर चलने की बात करती है.”

कामकाजी महिलाओं पर अभिनेता की इस तरह की टिप्पणी को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स ने अपनी नाराजगी जाहिर की. अब उन्होंने मामले को तूल पकड़ता देख इस पर अपनी सफाई दी है.

अभिनेता ने फेसबुक पर एक नोट साझा किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है, “मुझे सचमुच हैरानी हो रही है कि मेरे एक स्टेटमेंट को बहुत ही गलत तरीके से लिया जा रहा है. मुझे औरतों के खिलाफ बताया जा रहा है. जितनी इज्जत मैं नारियों की करता हूं शायद ही कोई करता होगा. इसीलिए मैंने ‘लक्ष्मी बॉम्ब’ नाम का विरोध किया. मैं नारियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हूं. हर रेप कांड के खिलाफ मैं बोला हूं. मेरे एक इंटरव्यू की क्लिपिंग को लेकर लोगों ने शोर मचा दिया है.”

उन्होंने आगे कहा, “मैंने कभी नहीं कहा कि औरतों को काम नहीं करना चाहिए. मैं सिर्फ ये बताने जा रहा था कि मीटू की शुरुआत कैसे होती है. हमारे देश में औरतों ने हर फील्ड में जगह बनाई है. फिर चाहे वो डिफेन्स मिनिस्टर हो, फाइनेंन्स मिनिस्टर हो, विदेश मंत्री हो या स्पेस में हो, हर जगह नारी ने अपना परचम लहराया है. तो मैं नारी के काम करने के खिलाफ कैसे हो सकता हूं.”

Show More

Related Articles

Back to top button