Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

एक्टर गोविंदा का फिल्ममेकर्स पर फूटा गुस्सा, बोले- इतना सेक्स दिखाना है तो पॉर्न फिल्में क्यों नहीं बनाते?

मुंबई. गोविंदा को 90 के दशक में बॉलिवुड के सबसे बड़े सुपरस्टार्स में से एक माना जाता है। एक वक्त था जब गोविंदा की फिल्में  सफलता की गारंटी होती थीं और उनके समय की हर टॉप हिरोइन गोविंदा के साथ काम करना चाहती थीं। हालांकि वक्त के साथ गोविंदा का करियर ढलान पर आया और एक वक्त के बाद गोविंदा को फिल्में मिलना ही बंद हो गई हैं। गोविंदा का कहना है कि फिल्म इंडस्ट्री में उनके खिलाफ काफी साजिशें की गईं जिसके कारण उनके अंदर बेहद कड़वाहट घुल गई है।

साइडलाइन किया गया, फिल्मों में लगाई अड़चनें

गोविंदा ने कहा कि फिल्म इंडस्ट्री में उनके खिलाफ काफी साजिशें रची गईं। यह सब शायद उन्हें साइडलाइन करने के लिए किया गया था। उन्हें अच्छे रोल्स ऑफर नहीं किए जा रहे थे और उनकी फिल्मों की रिलीज में भी काफी अड़चनें लगाई गईं। एक इटरव्यू में गोविंदा ने कहा कि अब वह काफी प्रैक्टिकल हो गए हैं और कोई फैसला भावुक होकर नहीं लेते हैं।

‘पार्टी करता हूं, शराब पीता हूं, अब गोविंदा पवित्र नहीं रहा’

क इंटरव्यू में गोविंदा से पूछा गया कि क्या वह आधत्यात्मिक होते जा रहे हैं। इसके जवाब में उन्होंने कहा, ‘नहीं, बल्कि इसका उल्टा हो रहा है। मैं अब पहले से ज्यादा भ्रष्ट और कठोर हो गया हूं। इन दिनों, मैं पार्टी करता हूं, सिगरेट पीता हूं और शराब भी पीता हूं। पुराना गोविंदा बहुत पवित्र था। पहले मेरा भावुक व्यवहार मेरे काम के आड़े आ जाता था लेकिन अब मैं इमोशनल नहीं होता हूं। मैं परिस्थितियों का सामना ज्यादा प्रैक्टिकल तरीके से करता हूं।’

‘सेक्स ही दिखाना है तो पॉर्न फिल्में क्यों नहीं बनाते’

गोविंदा ने कहा कि फिल्म इंडस्ट्री के कुछ लोगों ने उनके खिलाफ साजिश रची और झूठी अफवाहें फैलाईं। जब गोविंदा से पूछा गया कि क्या उन्होंने फिल्मों के ऑफर ठुकराए भी थे? इसके जवाब में उन्होंने कहा, ‘अब यह एक नई अफवाह सामने आई है। वे मुझे ऐसी फिल्में ऑफर कर साजिश कर रहे थे जिन्हें मैं नहीं कर सकता, जिनमें बहुत ज्यादा सेक्स या हिंसा होती है। अगर आप एक ऐसी फिल्म बनाना चाहते हैं जिसमें बहुत सारा सेक्स तो पॉर्न फिल्म क्यों नहीं बनाते? मुझे यह भी पता है कि एक ऑफिस में चर्चा चली थी कि गोविंदा को 15 सीन और 2 गाने दे दो और बाद में उसे केवल एक गाना देकर भगवान दादा बना दो और उसके बाद उसे जूनियर आर्टिस्ट बना दो। लेकिन मैंने उन्हें सफल नहीं होने दिया। मैंने बैंड बजा दी। मैंने हीरो के किरदार में वापसी की और फिल्म भी प्रड्यूस की। हालांकि वह एक अलग कहानी है कि मेरी फिल्म को कोई प्लैटफॉर्म ही नहीं दिया गया।’

Show More

Related Articles

Back to top button