Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

कंगना रनौत ने सिनेमाघरो को बंद करने वाले बयान पर उद्धव ठाकरे को घेरा, कहा- वायरस नहीं, बिज़नेस बंद हो जाएगा

मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का प्रकोप चिंताजनक स्थिति में पहुंच गया। राज्य सरकार ने एहतियाती उपाय करते हुए आंशिक लॉकडाउन का आदेश दिया है, जिसके तहत सार्वजनिक गतिविधियों पर रोक लगा दी गयी है। लॉकडाउन से सबसे अधिक सिनेमाघर प्रभावित होंगे, जिसके मद्देनज़र रविवार को सिनेमाघर संचालकों ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ वर्चुअल मीटिंग की। कंगना रनोट महाराष्ट्र सरकार के फ़ैसले पर तीख़ी प्रतिक्रिया दी है।

कंगना ने ट्विटर पर लिखा- इस मीटिंग के ठीक बाद, उन्होंने पूरे महीने के लिए सिनेमाघर बंद कर दिये। शर्म की बात है। दुनिया के बेस्ट सीएम वायरस के प्रसार की चेन तोड़ने के लिए एक हफ़्ते का पूर्ण लॉकडाउन क्यों नहीं करते? इस आंशिक लॉकडाउन से वायरस नहीं रुकने वाला, सिर्फ़ बिज़नेस बंद होगा।

इस मीटिंग में सिनेमाघर संचालकों ने राज्य सरकार से व्यवसाय को सपोर्ट करने की मांग की। एक्ज़िबिटर अक्षय राठी के अनुसार, मल्टीप्लेक्स संचालकों ने तीन साल के लिए प्रॉपर्टी टैक्स की छूट, एक साल के लिए बिजली के बिलों में छूट, 5 साल के लिए लाइसेंस का स्वत: नवीनीकरण और 3 महीनों के लिए थिएट्रिकल रिलीज़ के फ़ायदे देने की मांग की गयी है।

महाराष्ट्र में सिनेमाघर बंद करने से सबसे अधिक हिंदी फ़िल्में प्रभावित होंगी, क्योंकि बॉक्स ऑफ़िस कलेक्शन का बड़ा हिस्सा मुंबई टेरिटरी से आता है। राज्य सरकार के आंशिक लॉकडाउन की वजह से अप्रैल में रिलीज़ होने वाली कई फ़िल्मों के कारोबार प्रभावित होंगे।

Show More

Related Articles

Back to top button