Select your Language: हिन्दी
UNCATEGORIZED

एक्ट्रेस समीरा रेड्डी के दोनों बच्चे जांच में पाए गए कोरोना पॉजिटिव, सोशल मीडिया पर कोरोना को लेकर दिया ये मंत्र

मुंबई. बहुत सारे बच्चे कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर में संक्रमित हो रहे हैं. एक्टर समीरा रेड्डी के दोनों बच्चे भी पॉजिटिव पाए गए हैं. दोनों के स्वास्थ्य की जानकारी देने के लिए समीरा ने इंस्टाग्राम का सहारा लिया. एक 5 वर्षीय बच्चे का नाम हंस और दूसरे 2 वर्षीय मासूम का नाम नायरा है. दोनों के संक्रमित होने का मामला सामने आने के बाद एक्टर और उनके पति अक्षय वर्दे में भी लक्षण जाहिर होने लगा और वर्तमानन में होम क्वारंटीन हैं.

एक्टर समीरा रेड्डी के दोनों बच्चे कोरोना पॉजिटिव

समीरा ने बताया कि पहले तो इससे घबराना मुश्किल नहीं था, लेकिन वक्त की जरूरत शक्ति को इकट्ठा करना और ‘स्मार्ट’ होना है. उन्होंने लिखा, “कई लोग मुझसे हंस और नायरा के बारे में पूछ रहे हैं, इसलिए अपडेट दे रही हूं.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Sameera Reddy (@reddysameera)

पिछले सप्ताह हंस को सख्त बुखार, सिर दर्द, बदन दर्द, पेट की परेशानी और सख्त थकान था. ये करीब चार दिनों तक बना रहा. ये बहुत असमान्य था. इसलिए हमने उसका टेस्ट करवाया और उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई. शुरू में मुझे स्वीकार करना पड़ेगा कि मुझे पूरी घबराहट महसूस हुआ क्योंकि जितना आप खुद को तैयार सोचते हैं, आप उतना पूरी तरह नहीं होते.”

42 वर्षीय एक्टर ने याद किया कैसे ‘फौरन’ नायरा में लक्षण दिखने लगे. उनका कहना है कि उसे बुखार और पेट में तकलीफ थी. उन्होंने पेरासिटामोल दिया. रेड्डी ने ये भी जिक्र किया कि कैसे सबसे जरूरी है सचेत होना कि दूसरी लहर बहुत सारे बच्चों को प्रभावित कर रही है लेकिन डॉक्टरों का मानना है कि ज्यादातर मामलों में ये हल्का लक्षण होता है. एक्टर ने लिखा, “डॉक्टर भी विटामिन सी, मल्टीविटामिन, प्रोबायोटिक और जिंक (कृप्या अपने डॉक्टर से चेक करें) की सिफारिश कर रहे हैं. मैंने उन्हें सहज बनाने के लिए सब कुछ किया और दोनों अच्छे हैं.”

पति-पत्नी भी पॉजिटिव होने के बाद हैं होम क्वारंटीन

उन्होंने जिक्र करते हुए शेयर किया कि कैसे उनके पति और वो खुद दोनों बच्चों के बाद कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, “जरूरी है याद करना कि हालांकि आपके बच्चे कुछ दिनों में एसिम्पटोमैटिक हो सकते हैं, लेकिन उन्हें फिर भी उन लोगों से आइसोलेट किए जाने की जरूरत है जो पिछले 14 दिनों से प्रभावित नहीं हुए हैं ये सुनिश्चित करने के लिए कि इसका ट्रांसमिशन न हो. हमने कुछ इलाज, भाप से सांस लेना, नमक पानी से कुल्ला करना, प्राणायाम, सांस लेने का व्यायाम और पौष्टिक भोजन लगन से अपने डॉक्टर की सलाह का पालन करना शुरू किया.”

समीरा ने बताया, “ये समय है स्मार्ट और फोकस होने का. निगेटिव न हों, डरे नहीं. सिर्फ खुद को और दूसरों को सुरक्षित करने के लिए सचेत रहें. हमें इसका ध्यान रखना है. मात्र यही एक रास्ता है.” उन्होंने सलाह दी कि सकारात्मक बनें क्योंकि अभी यही सबसे बड़ी शक्ति है. मजबूत रहें. सुरक्षित रहें.

Show More

Related Articles

Back to top button