Select your Language: हिन्दी
News

राजकीय सम्मान के साथ किया गया दिलीप कुमार को सुपुर्दे खाक

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार साहब को कल राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई. कल उन्हे सांताक्रूज मुंबई में स्थित जुहू के कब्रिस्तान में उन्हें सुपुर्द-ए-खाक किया गया. वे 98 साल के थे. दिलीप कुमार पिछले कुछ दिनों से काफी बीमार चल रहे थे. सांस लेने में उन्हें काफी परेशानी हो रही थी जिसके इलाज के लिये उन्हे मुंबई के हिंदुजा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था लेकिन बुधवार को उन्होने सुबह आखिरी सांसे लीं.

कल शाम को उन्हे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई.उनकी पत्नी सायरा बानो भी कब्रिस्तान तक उन्हें अंतिम विदाई देने पहुंची। दिलीप साहब के घर और क्रबिस्तान के बाहर भारी भीड़ जुटी। दिलीप साहब को सुपुर्द-ए-खाक करने से पहले वो उनका चेहरा देखना चाहती थीं।

दिलीप साहब के निधन से सायरा बानो सदमे में हैं। घर से जब दिलीप साहब का पार्थिव शरीर क्रबिस्तान के लिए निकला तो वो सूनी आंखों से उन्हें देख रही थीं। पति के निधन पर रो-रोकर उनकी आंखें सूझ गई थीं। उन्हें यकीन नहीं हो रहा था कि उनके पति एक ऐसे सफर पर चले गए हैं जहां से कोई लौटकर नहीं आ पाता।

बता दें, दिलीप कुमार साहब का असली नाम मोहम्मद युसूफ खान था. पाकिस्तान के पेशावर में 11 दिसंबर 1922 को उनका जन्म हुआ था.

Show More

Related Articles

Back to top button